हर पल -हर पल

हर पल – हर पल ——————-

मन का पंछी शांत न बैठे

उड़ता जाये हर पल हर पल !!

बढता जाये उम्र का सूरज

ढलता जाये हर पल हर पल !!

खुशनसीब है वो दर्पण

रूप चुराये हर पल हर पल !!

पति पत्नी का प्रेम सफर

बढता जाये हर पल हर पल !!

आसमां से चॉद मुस्कुराये

चॉदनी बरसे हर पल हर पल !!

बचपन की यादों का बादल

मन को भाये हर पल हर पल !!

सप्तरंगी दुनिया का सफर 

सुहाना लगे हर पल हर पल !!

मीठी मुस्कान मन को लुभाये 

प्रेम बरसाये हर पल हर पल !!
               अंत मे

 अहं हटायें रूह को महकाये 

मिले संग उसका हर पल हर पल !!

picture taken from google 

लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

जय सच्चिदानंद 🙏🙏 

14 Comments Add yours

  1. AdhivaktaEkDayari says:

    आपके शब्दों का शुक्रगुजार करता हूँ
    तहे दिल से धन्यवाद करता हूँ

    Liked by 1 person

    1. बहुत बहुत शुक्रिया सराहने के लिये ।

      Like

  2. "Sadhana" says:

    👌

    Liked by 1 person

      1. Aap accha likhti hai….Carry on👌👌

        Liked by 2 people

        1. धन्यवाद आपने सराहा और बढ़ावा दिया लेकिन लिखने मे मेरा गुरूजी का आशीर्वाद है वो ही करना रहे है ,मैं तो कुछ भी नही जानती । उनको समर्पित करके ही लिखती हूँ ।

          Liked by 1 person

          1. बहुत कम लोग होते है जो अपनी सफलता या गुण का श्रेय दुसरो को देते है। आपकी बाते सुनकर अच्छा लगा …..और आपके गुरुजी को भी प्रणाम जिन्होंने आपको इतना अच्छा लिखने के लिए प्रेरित किया

            Liked by 1 person

  3. ||PKVishvamitra|| says:

    हर पल हर पल प्रेम सुधा रस का उत्तम वर्षण!!

    Liked by 1 person

    1. वाह 👋👋 आपने तो इस लाईन को और ख़ूबसूरती दे दी ।धन्यवाद आपका

      Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s