जन्माष्टमी की सबको बहुत बहुत शुभकामनायें  – जिंदगी की किताब (पन्ना # 242)

माखन चोर जो कहलाया,मुरली से राधा को रिझाया, 

इस धरा पर प्रेम का बीज उगाया

ऐसे मेरे कान्हा के जन्मदिवस पर सभी देशवासियों को तहे दिल से हार्दिक बधाई व बहुत बहुत शुभकामनायें …..

जो कर्म को कृश (जीते) करे वह कृष्ण । कृष्ण भगवान का जन्म रात के अंधकार मे जेल मे हुआ था । उस समय सारे पहरेदार सो रहे थे । जन्मते ही बेड़ियाँ टूट गई , दरवाज़े अपने आप खुल गये ।

इसी प्रकार जब हमारे भीतर कृष्ण का जन्म होता है तो तुरंत ही नेगेटिविटी रूपी अंधकार चला जाता है । ईगो और ममतारूपी बेड़ियाँ टूट जाती है ।जाति,धर्म,सम्बंधों,कामकाजी रूपी दीवारों के जेल के दरवाज़े अपने आप खुल जाते है । यही जन्माष्टमी पर्व का महत्व है ।

आपकी आभारी विमला मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

2 Comments Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s