लफ़्ज़ – 1,2,3

1. रंगीन या रंगहीन कपड़े पहनने से नही 

बल्कि पॉजिटिविटी रखने से जिन्दगी मे खुशियॉ आती है 😊😊💃🏼💃🏼

2.कुछ सैकंड की मुस्कराहटो 😊😊 से तस्वीर अच्छी बन सकती है 

तो हरदम मुस्कराहट 😊😊से क्यों नही जिंदगी हसीन बन सकती है 👏🏻👏🏻

3. जो हो गया वह होनी ही हुआ,होनी मे भला हस्तक्षेप कैसा

उसके लिये फिर रोना 😢😢कैसा, उसके लिये फिर सोचना कैसा😔😔

आपकी आभारी विमला मेहता

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

2 Comments Add yours

  1. Madhusudan says:

    Sach khushiya bajaar me nahi bikti….ek sakaratmak soch chehre par mushkaan le aati hai.bilkul sahi kaha.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s