एक पैग़ाम मातृभाषा के नाम – जिंदगी की किताब (पन्ना # 290)

मातृभाषा या राष्ट्रभाषा ….  हिन्दी दिवस की सभी को शुभकामनायें 🇵🇾🌹🌹

हिन्दी हमारी मातृभाषा ,मात्र एक भाषा नहीं वरन हिन्दी है ,मेरे हिन्द की धड़कन ।

बहुत सालों पहले की बात है जब मॉबाइल या कम्प्यूटर की सुविधा नही थी । बातचीत का ज़रिया पत्र व्यवहार हुआ करता था । उस समय एक व्यक्ति जो अनेक भाषा का विद्वान होते हुये भी पत्र व्यवहार के लिये हिन्दी भाषा का ही उपयोग करता था । उन्होने मातृभाषा के संबंध मे एक बहुत मार्मिक घटना सुनाई ।

उसका एक अजीज मित्र अमेरिका मे पढाई करने के लिये गया । वहॉ वह किसी परिवार वालों के साथ कुछ डॉलर का भुगतान करके रह रहा था । उस परिवार मे एक छोटे बच्चे को भारतवर्ष की भाषा और लिपी को जानने की बहुत चाहत थी लेकिन उसने कभी इस बात का जिक्र नही किया । इसका मालूम तब चला जब एक दिन पॉस्टमेन उस भारतवासी मित्र को उसके नाम से भारत से आया पत्र दे गया । उस पत्र को देखते ही वह बच्चा उनसे बोला कि अंकल आपको यदि कोई दिक़्क़त ना हो तो एक मिनट के लिये अपना पत्र मुझे देंगे ताकि मै आपकी हिन्दी भाषा के दर्शन करके अपनी उत्सुकता शांत कर सकूँ । उसके हाथ मे पत्र दे दिया । बालक ने पत्र को खोला तो देखा कि वह तो अंग्रेज़ी मे लिखा है । उसने अत्यन्त खिन्न मन से पत्र को लौटाते हुये पूछा कि क्या भारत की कोई अपनी भाषा (मातृभाषा या राष्ट्रभाषा )ही नही है ?

प्रश्न सुनते ही भारतीय मित्र लज्जित हो गया । उसके पास मौन रहने के अलावा कोई जवाब नही था लेकिन इस घटना से उस दिन से उसे मातृभाषा के गौरव का मर्म समझ मे आया 
मातृभाषा या राष्ट्रभाषा की उन्नति तो समस्त उन्नति का कारण है ।

परदेशी भाषा समझ नही आता, पढ़े जाऊँ तो क्या हासिल ?
अपनी भाषा का है कुछ मतलब,तो विदेशी ज़ुबां क्यों हो ?

################################

हिन्दी हमारी मातृभाषा ,मात्र एक भाषा नहीं 
वरन हिन्दी है ,मेरे हिन्द की धड़कन ।      
जो बोले वही लिखे , तो मन के सही भाव उभरते है 
कुछ हवायें ऐसी चली ,जो मातृभाषा को बदलने चली 
बदल ना सकते अपनी माता को ,तो मातृभाषा को क्यों बदले ?
करो ना तुम हिंदी की चिन्दी, यह भाषा तो है हमारे देश की बिन्दी
करो मातृभाषा का सम्मान ,तभी बढ़ेगी देश की शान
करो हर भाषा का दिल से सम्मान ,पर मातृभाषा पर करे हम सब अभिमान
आओ हम सब अपनी मातृभाषा हिन्दी पर गर्व करे 🙏🙏

आपकी आभारी विमला मेहता  

लिखने मे गलती हो तो क्षमायाचना 🙏🙏

जय सच्चिदानंद 🙏🙏

8 Comments Add yours

  1. बहुत सुन्दर… हिन्दी मेरे हिन्द की धड़कन… वाह… सच कहा…

    Liked by 1 person

  2. Madhusudan says:

    bahut badhiya….Hindi hain Hindi hamari pehchaan………ek duje se mile to apnaapan dikhati hai hindi.

    Liked by 1 person

  3. Yogi's World says:

    बहुत बढ़िया लेख ।

    Liked by 1 person

  4. bansarir says:

    बहूत सही कहा आपने….

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s