Quote # 183

हर एक का घर हो जहॉ विश्वास की दीवार हो प्यार की भरमार हो , आनंद का प्रकाश हो परिवार का साथ हो , ईश्वर का वास हो रब से दुआ है मेरी , सबका सपना साकार हो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 182

स्री प्यार की मूरत है पुरूष संघर्ष की सूरत है कैसे कहूँ महान किसी को दोनो को एक दूसरे की जरूरत है जो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quotes 180,181

एक वृद्धाश्रम में दो समधिन मिली क्या कहे क्या सुने कौन किसको दोष दे ? मेरा भईया चाहे दूर हो या पास हो मुश्किल मे एक आवाज दूँ और वह दौड़ा ना चला आये ऐसा हो नही सकता । picture taken from google आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏