लडकियॉ को कमजोर ना समझो # जिंदगी की किताब (पन्ना # 358)

लडकियॉ को कमजोर ना समझो ।इसकी मिसाल ये छ: लड़कियां है ,जो लडकियॉ नही भारतीय नौसेना की छ: रण चण्डिकाए है। जिन्होंने जलमार्ग द्वारा 40,000 किमी की यात्रा सागर मंथन 55 फुट लंबी आईएनएस तारिणी (मेड इन इंडिया )नाव के द्वारा सागर नाविका परिक्रमा के अंतर्गत पूरे विश्व की परिक्रमा की है देश का गौरव…

नारी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 357)

देख नारी की हालत ,छलनी हो जाता है सीना , पैसा ,पद के दम पर,नारी की आबरू को छीना पैसो के जो लालची , सौदेबाज़ी करते ना थकते जैसे लडकी तो गुडिया है , खाने की पुडिया है बनते फिरते दु:शासन ,आज चीर सब हरते मॉ का मान भूल गये , अय्याशी मे डूब गये…