Quote # 199,200

वह परिवार मंदिर से कम नही जहॉ अच्छे संस्कारों की भक्ति समर्पण की शक्ति दिलो मे भावना की मस्ती स्नेह की कश्ती हो मॉ बनते ही नारी की रूह तृप्त हो जाती है इसी सुखद क़र्ज को उम्र भर अदा करती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏