जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

🔸ज़िन्दगी की भागदौड़ में उम्र कैसे बीत गई पता ही नही चला यारों 🔸उंगली पकड़ कर चढ़ने वाले बच्चे कंधे तक कब आ गए पता ही नहीं चला 🔸साइकिल के पैडल ,स्कूटर की किक मारते मारते कैसे कारों में सैर करने लगे पता ही नहीं चला 🔸कभी हम थे माँ बाप की जिम्मेदारी, आज हम…

Quote # 214

जैसे बूँद बूँद करके घड़ा भरता है वैसे ही सकारात्मक या नकारात्मक सोच की बूँदे भी हमारे मस्तिष्क मे भरकर जिन्दगी को सरस या नीरस कर देती है यदि हम ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक बात करे व सुने तो निश्चित ही जिन्दगी मे अच्छा परिवर्तन होगा । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

मृत्युभोज के नाम एक संदेश # जिंदगी की किताब (पन्ना # 360)

🔸जिस घर मे पुत्र शोक पर क्रंदन कर रहे मॉ पिता वहॉ भोजन का निवाला तुम्हे कैसे भाता होगा ? 🔸जिस घर मे सूनी मॉग लिये रोती बिलखती विधवा युवती वहॉ बडे चाव से पंगत खाते हुये तुम्हे ज़रा भी पीड़ा नही होती ? 🔸जिस घर मे रक्षा सूत्र लिये बहना अपने भाई की याद…

Quotes #194,195,196

ये मत पूछो कि ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है क्योकि शिकायते तो उन्हें भी है जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है मानो तो मौज हैं नही तो समस्या तो रोज हैं हमे इन दो पर ज्यादा नाज करना चाहिये पहले वो जो हमारा पेट भरते है – जय किसान दूसरे वो जो हमारे देश की रक्षा…

Quote # 193

बच्चोंकोघरकानहीजंगलकापौधाबनाये , उसेयदिकोईपानीनभीदेतोभीवहखड़ाहोसके आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

सोचने वाली बात# जिंदगी की किताब (पन्ना # 354)

एक लड़की fruits ख़रीदने बाजार गई वहॉ काफ़ी fruits वाले फुटपाथ पर बेच रहे थे लड़की ने एक बूढ़े बुज़ुर्ग जो Apple बेच रहा था उसके दाम पूछे बूढ़े बुज़ुर्ग ने कहा बेटी एक किलो का दाम नब्बे रूपये है उस लड़की ने कहा कि तीन किलो एक साथ लेने पर पचास रूपये कम दूँगी…

मानवता मे खोट # जिंदगी की किताब (पन्ना # 334)

बदलते वक्त मे बदल गई इंसान की सोच मानवीय भावनाओ मे आ गई खोट । यूँ तो कहलाते है हम आर्यों की संतान पर ढूँढने से भी ना मिले इंसान की हैवानियत का भंडार । हम इंसानो की भूखी हवस से जानवर तो क्या इंसान भी कहॉ बच पाते है । कैसे इंसान है जो…

Quotes # 160,161,162)

बारिश मे छाते जैसी है शीतलता मे चॉदनी जैसी है चले तो हवा जैसी है वो मॉ ही है जो धूप मे भी छॉव जैसी है आजकल के रिश्तो से तो अच्छी मोबाइल की battery है जो कम से कम ख़त्म होने से पहले warning को देती है रिश्तो मे ना रखा करो हिसाब नफ़े…

Quotes #152,153

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 142,143,144

एंग्रीमैन बनने की बजाय हैपीमैन बने क्योंकि एंग्री चेहरा दूसरो को तो क्या ख़ुद को भी आईने मे देखने पर नही सुहायेगा जबकि हैपी चेहरा जो कोई देखेगा अपना दिल दे बैठेगा । अगर सास बहू , ननद भौजाई की आपस मे जमती तो इस दुनिया मे क़िस्सों की खिचड़ी ना बनती अगर बेटियों को…

Quote # 129,130,131

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

नेगेटिव कैलोरी का पॉज़िटिव कमाल # जिंदगी की किताब (पन्ना # 341)

नैगेटिव कैलोरी का पॉज़िटिव कमाल ….. खाद्य प्रदाथो से शरीर को मिलने वाली ऊर्जा को कैलोरी से मापा जाता है ।एक अनुमान के हिसाब से सामान्य स्त्री के लिये 2,200 व पुरूष के लिये 2,400 कैलोरी ऊर्जा की आवश्यकता होती है । शरीर को भोजन पचाने के लिये ऊर्जा की जरूरत होती है । कुछ…