आओ कुछ ऐसा करे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

प्रेरक कथा आओ कुछ ऐसा करे …. रामू मिल का चौकीदार था ,उसकी ये खासियत थी कि वह मिल मे काम करने वाले हर व्यक्ति को कभी भी आते जाते समय good morning या good night या सलाम , नमस्ते जरूर करता ,चाहे वह आदमी कोई भी पद पर हो । उसका ऐसा heartily बोलना…

Quote # 203

क्यो ना हम ऐसा दान करे बची हुई रोटी को खाखरा बनाने की बजाय किसी गरीब को खिला दे पुराने कपड़ों से बर्तन या कोई और वस्तु लेने की बजाय किसी गरीब को पहना दे आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

मन का आईना # जिंदगी की किताब (पन्ना # 361)

मन का आईना ….. एक नगर में राजा था जिसके पास अपार सम्पति,सोना चॉदी और हीरे जवाहरात थे । दिल का बहुत अच्छा था ।हमेशा लोगो की भलाई के लिये सोचता रहता था ।कोई भी उसके द्वार से खाली हाथ नही लोटता था ।साथ में वह नयी नयी चीजो को बनवाने का शौकीन था ।लेकिन…

Quotes #194,195,196

ये मत पूछो कि ज़िन्दगी ख़ुशी कब देती है क्योकि शिकायते तो उन्हें भी है जिन्हें ज़िन्दगी सब देती है मानो तो मौज हैं नही तो समस्या तो रोज हैं हमे इन दो पर ज्यादा नाज करना चाहिये पहले वो जो हमारा पेट भरते है – जय किसान दूसरे वो जो हमारे देश की रक्षा…

बुढ़ापे मे हाथ पाव जवाब देने लगे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 356)

👌👌👌🙏🙏🙏👍👍👍 👌👌जब बुढ़ापे मे हाथ पाव जवाब देने लगते है उस समय बहू घर की कैसे भी साज संभाल करे वो महत्वपूर्ण नही रह जाता बल्कि बेटी की तरह उनकी सेवा करे , ध्यान रखे वो महत्वपूर्ण हो जाता है । फिर क्यो ना हम शुरू से ही बहू को बहू ना मानकर एक बेटी…

सोचने वाली बात# जिंदगी की किताब (पन्ना # 354)

एक लड़की fruits ख़रीदने बाजार गई वहॉ काफ़ी fruits वाले फुटपाथ पर बेच रहे थे लड़की ने एक बूढ़े बुज़ुर्ग जो Apple बेच रहा था उसके दाम पूछे बूढ़े बुज़ुर्ग ने कहा बेटी एक किलो का दाम नब्बे रूपये है उस लड़की ने कहा कि तीन किलो एक साथ लेने पर पचास रूपये कम दूँगी…

Quotes # 170,171,172,173

प्रेम वह नही है जो movie मे देखते है खुद को साफ करो व सामने वाले को माफ करो यही है प्रेम की अभिलाषा बड़े प्यारे होते हैं वो रिश्ते जहॉ ना गिला हो, ना शिकवा हो ना अपेक्षा हो, ना उपेक्षा हो, न अहम हो, ना वहम हो सिर्फ अपनेपन का ही मरहम हो…

Quotes # 165,166,167

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

घर घर की कहानी ,सास बहू की जुबानी # जिंदगी की किताब (पन्ना # 335)

घर घर की कहानी ,सास बहू की जुबानी ….. picture taken from google शादी को कुछ ही समय हुआ । आज काम के लिये महरी नही आई इसलिये शीलू बरतन धोने लगी । धोते धोते उसके हाथ से कॉच का कप नीचे गिरकर टूट गया । कप टूटते ही वह डरने लगी कि उसकी सास…

जहां चाह ,वहॉ राह # जिंदगी की किताब (पन्ना # 348)

सोलह साल का दीनू बहुत नटखट बच्चा था । स्कूल से आने के बाद कुछ ऐसी दिनचर्या थी कि खाना खाते समय टीवी देखना , फ़ोन पर दोस्तों से बात करना , थोड़ी देर सोकर शाम को दोस्तों के साथ खेलना व जैसे तैसे होमवर्क पूरा करना ताकि टीचर से सज़ा न मिले । पूरी…

Quotes # 158,159

ईश्वर कहते है कि तुम किसी की भूख प्यास हमेशा के लिये ख़त्म नही कर सकते लेकिन अगर किसी को सही ज्ञान देकर हमेशा सुखी रहने का मार्ग बता दोगे तो ऐसे ज्ञान के दान से बड़ा दान और कोई नही है । अंर्तमन में उठ रहा दर्द फिर भी मुस्कुराता हुआ चेहरा यही दुनिया के…

एक नजर अंधविश्वास ,मन्नत पर # जिंदगी की किताब (पन्ना # 347)

एक नजर अंधविश्वास व मन्नत पर …. जब हम भगवान या देवी देवता से कोई मन्नत मॉगते है व पूरी होने पर किसी वस्तु का चढ़ावा या प्रसाद या दर्शन ….जो भी बोलते है ओर किसी वजह से पूरा कर ना पाते है या देरी हो जाती है ,ऐसी स्थिती मे यदि घर मे कोई…