जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

🔸ज़िन्दगी की भागदौड़ में उम्र कैसे बीत गई पता ही नही चला यारों 🔸उंगली पकड़ कर चढ़ने वाले बच्चे कंधे तक कब आ गए पता ही नहीं चला 🔸साइकिल के पैडल ,स्कूटर की किक मारते मारते कैसे कारों में सैर करने लगे पता ही नहीं चला 🔸कभी हम थे माँ बाप की जिम्मेदारी, आज हम…

Quote # 217

भगवान ने हर बंदे को अच्छा बनाया है … ऐसा सोचने पर ही हम मस्त, स्वस्थ व खुश रह पायेंगे 🙂 हकीकत मे ना सास बुरी है,ना बहू ना भाभी बुरी है,ना ननद बस हालात व पद का असर उन्हें बुरा बना देता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 216

दुल्हन ही दहेज हैं बोलना कहॉ सच है ? जब हक़ीक़त मे किसी गरीब की बेटी की डोली तब ही उठी जब किसी ने पगड़ी तो किसी ने सम्मान किसी ने जमीन तो किसी ने मकान ,कुछ न कुछ गिरवी रखा आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 218

कितना प्यारा बचपन था खुशियॉ का ख़ज़ाना था ख़्वाहिशें चॉद पाने की होती थी पर दिल तितलियों का दीवाना था आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 215

किसी के लिये अच्छी दुआये करना भी धर्म होता है यारों ….. एक छोटा सा धर्म जब भी कोई हॉस्पिटल दिखे तो यह प्रार्थना करना हे भगवान अंदर जो भी बीमार व्यक्ति है उसको आप जल्दी से स्वस्थ कर देना चाहे वह कोई भी हो आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 214

जैसे बूँद बूँद करके घड़ा भरता है वैसे ही सकारात्मक या नकारात्मक सोच की बूँदे भी हमारे मस्तिष्क मे भरकर जिन्दगी को सरस या नीरस कर देती है यदि हम ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक बात करे व सुने तो निश्चित ही जिन्दगी मे अच्छा परिवर्तन होगा । आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 213

हो बातों मे प्रस्तुतिकरण का ढंग तो बाते ह्रदय को स्पर्श कर जाती है और नही हो बातों मे कोई तरंग तो चलती गाड़ी पटरी से उतर जाती है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 208

सफलता के लिये जरूरी है कि यदि “मै”शब्द की जगह “हम “शब्द का प्रयोग करे तो मै हमेशा कमज़ोर होकर हारा है , हम हमेशा मजबूत होकर जीता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 207

टेंशन से चेहरे पर रिंकल पड़ते हैं, रोने से चेहरे पर पिंपल पड़ते हैं, इसलिए मित्रो हमेशा हँसते रहो, क्योकि हँसने से चेहरे पर डिंपल पड़ते है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏 picture taken from google

Quote # 206

रिश्ते अंकुरित होते हैं प्रेम से जिंदा रहते हैं संवाद से महसूस होते हैं संवेदनाओं से जिये जाते हैं दिल से मुरझा जाते हैं गलतफहमियों से बिखर जाते हैं अंहकार से और मर जाते हैं शीत युद्ध से आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 205

पति पत्नी के रिश्तो की मधुरता के लिये बुद्धि व ह्रदय का बहुत अहं रोल है बुद्धि रिश्तो को कमजोर करती है व ह्रदय रिश्तो को मजबूत करता है आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 203

क्यो ना हम ऐसा दान करे बची हुई रोटी को खाखरा बनाने की बजाय किसी गरीब को खिला दे पुराने कपड़ों से बर्तन या कोई और वस्तु लेने की बजाय किसी गरीब को पहना दे आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏